कसे और मोटे ताज़े लंड का झटका

हेल्लो मेरे छोटे बड़े भाई लोग आज मैं आप सभी को एक बहुत ही मजेदार चुदाई की कहानी सुनाने जा रहा हूँ | मुझे मालूम है कि आप को मेरी ये कहानी पसन्द आयेगी | जब मै करीब 20 साल का था तब मै एक किराने की दुकान में काम करता था और उस समय एक भौजी भी वहां पे काम करती थी | उसका काम पर आने का समय ठीक 9.30 बजे का था और मेरा काम में आने का समय भी ठीक 9.30 बजे का था | वो जिस रास्ते से आती थी मैं भी उसी रास्ते से आता था | एक दिन वह मुझसे बोली कि आप का क्या नाम है ? मैंने बोला कि मेरा नाम तो छोटू ठाकुर है | फिर मैंने पूछा आपका क्या नाम है ? तो उसने कहा कि मेरा नाम कंचन सोनी है | तो मैंने बोला कि आप को कितने साल हों गये इस दुकान में काम करते | वो बोली मुझे तो अभी 2 महीने ही हुए है | उसने बोला कि मैं काम नही करती लेकिन मेरे पति के ख़तम होने के बाद से मुझे ही काम करना पड़ रहा है मेरी एक 3 साल की लड़की है उसकी भी देख रेख करनी है | वो अभी दूसरी कक्षा में है इसलिए मैं काम करती हूँ |

मैंने बोला आपका कोई और नही है क्या ? तो उसने कहा नही फिर हम दोनों बात करते करते दुकान पहुँच गये | हम दोनों दोस्त बन गये और धीरे धीरे एक साथ रोज काम में आने लगे और एक दिन वो मुझे बोली कि आप मेरा एक काम करोगे तो मैंने बोला क्यूँ नही आप बोलो क्या काम है | तो उसने बोला कि आप मेरे साथ मेरे घर चलो और मेरे घर में थोडा सा काम है | उसने कहा पलग को अंदर वाले कमरे में रखवाना है और पेटी को बाहर बाले कमरे में करना है | तो मैंने बोला इतनी सी बात है तो चलो और हम दोनों उसके घर गये | जब मैंने देखा कि वो तो बहुत ही अच्छे घर में रहती है लेकिन उसका और कोई नही है बस एक लड़की है तो मन में कुछ आया | पर मैंने उसका काम पूरा करवाया और उसके बाद आने लगा तो वो मुझसे बोली कि अभी नही जाना हम खाना बना रहे है | खाना खा के जाना तो मैंने बोला नही हम कभी और खा लेंगे तो उसने कहा ठीक है अब तो आप आते ही रहोगे आपने घर तो देख ही लिए है | मै घर आ गया और जब मै दूसरे दिन उसके घर गया तो वो नहा रही थी और में उस समय पहुँच गया और जब मैंने उसको देखा कि वो अपने बड़े बड़े दूधो को जम जम के घिस रही थी तो मेरा लंड खड़ा होने लगा और मैं उसे देखता ही रह गया |

मैंने सोचा कि मै इसको एक बार तो जरूर चोदुंगा और फिर वो तैयार हो के मेरे साथ काम में जाने के लिए आ गयी | मैंने बोला कि चलो आज मै गाड़ी लाया हूँ और हम दोनों काम पर आ गये फिर जब रात को हम लोग घर के लिए निकले तो वो पूछने लगी कि आपकी शादी हो गई क्या ? तो मैंने कहा नही और मै आप को आज बताता हूँ कि मेरे साथ भी कोई नही है मेरा बस एक भाई है | वो भी आपनी लुगाई के साथ रहता है | हमसे जादा मतलब नही रखता है | तो उसने कहा कि खाना कौन बनाता है आपका ? मैंने बोला कि मै खुद तो वो बोली कि अब से आप मेरे घर में खाना खा के जाना | अगले दिन जब मैं उसके घर में खाना खाने के लिए गया तो उसने मेरे लिए छोले की सब्जी और पुड़ी बनाई और बोली आओ और उसकी लड़की भीं आई और बोली की मम्मी ये कौन है ? मैंने बोला कि मै आपका चाचा जी हूँ ठीक है बेटा ? फिर मैंने पूछा आपका क्या नाम है ? तो उसने कहा कि मेरा नाम पलक है और हम तीनो खाना खाने लगे और मैं उसको देख रहा था और वो भी मुझे देख रही थी और खाना खाते जा रही थी | जब हम लोगों का खाना हो गया तो मैंने बोला कि अब मै जा रहा हूँ | तो उसने मुझसे कहा कि नही जाओ न आज यही सो जाओ न | तो मैंने बोला नही यार कभी और फिर मै आपने घर आ गया और फिर मै दूसरे दिन काम पर नही गया तो वो मेरा इंतजार करती रही पर मेरी तबियत खराब हो गई थी | 4 दिनों तक काम मैं काम पर नही गया तो उसने मेरे सेठ से मेरा मोबाईल नंबर लिया और मुझे कॉल किया |

उसने कहा छोटू बोल रहे हों क्या ? तो मैंने बोला हाँ आप कौन तो उसने कहा मै कंचन बोल रही हूँ आप को क्या हो गया आप काम पर क्यों नही आ रहे हो | तो मैंने बोला हाँ यार मेरी तबियत सही नही है | इसलिए मै काम पर नही आ रहा हूँ पर अभी ठीक हूँ | मैं बोला मैं आप के घर आता हूँ आज शाम को और मैंने सोचा कि आज तो मै इसको चोद ही दूंगा | जब मै शाम को उसके घर गया तो उसने मेरे लिए गाजर का हलवा बना के रखा था | जैसे ही मै उसके घर गया तो उसने मुझसे बोला कि आप इतना लेट क्यों आये तो मैंने बोला यार मुझे एक काम था तो मै उसे करके आ रहा हूँ इसलिए लेट हो गया | वो बोली कि आपकी तबियत तो सही है न तो मैंने बोला हाँ और आप तो सही हो ? तो वो मुझे देख के हसने लगी और बोली मैंने तो सोचा कि मुझसे कोई गलती हो गई है क्या ? मैंने कहा नहीं ऐसा क्यों पूछा ? फिर मैंने उसको बोला कि आज मै आपको एक बात बोल रहा हूँ आप किसी को बताओगे तो नही ना ? वो बोली नही बोलो तो मैंने बोला मै आपसे प्यार करता हूँ आप बताओ कि आप करती हो या नही ? तो उसने का कि आप अन्दर वाले कमरे मै आ जाओ जैसे ही मै कमरे के अन्दर गया तो वो मुझे जोर से किस करने लगी और बोलने लगी मै भी आपसे बहुत प्यार करती हूँ | आप मेरी प्यास को बुझाओ और मैंने भी उसको जोर जोर से किस करना चालू कर दिया और उसको बिस्तर में गिरा दिया और उसके दूध को जोर जोर से दबाने लगा धीरे से उसकी साड़ी को ऊपर कर दिया और उसकी चड्डी में अपना हाथ डाल के उसकी चूत को सहलाने लगा वो आह उह आह ओह्ह करने लगी |

Pages: 1 2

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *