दोनो सहेलियो ने लंड लिया

kamukta, antarvasna मेरे और मेरे परिवार वालों ने घूमने का प्लान बनाया हम लोग चंडीगढ़ में ही रहते हैं और हमारे पड़ोस में मेरी सहेली पायल भी रहती है पायल के परिवार के सदस्यों का हमारे घर पर आना जाना लगा रहता है और हम लोगों के साथ उनके बड़े ही अच्छे और मधुर संबंध हैं इसी के चलते हम लोग जब भी घूमने का प्लान करते हैं तो एक साथ ही जाते हैं। पायल एक दिन हमारे घर पर आई और मेरी मम्मी से कहने लगी आंटी हम लोग मनाली का प्लान बना रहे हैं यदि आप लोग भी हमारे साथ चलें तो हमारा टूर बड़ा ही अच्छा हो जाएगा, मैंने पायल से कहा लेकिन यह बात तो आंटी ने हमें बताई ही नहीं और तुम लोगों ने एकदम से घूमने का प्लान बना लिया, पायल कहने लगी मम्मी आजकल कहीं बाहर गई हुई हैं मेरी मम्मी कहने लगी अच्छा तभी शायद तुम्हारी मम्मी आजकल काफी दिनों से हमारे घर पर नहीं आ रही हैं मेरी मम्मी ने कहा ठीक है बेटा हम लोग तुम्हारे साथ घूमने का टूर बना लेंगे।

हम लोगों ने घूमने का टूर बना लिया और जब हम लोग घूमने के लिए निकले तो हम लोग कार से ही गए हम लोगों ने ड्राइवर हायर कर लिया था, मेरे साथ पापा मम्मी और पायल के पापा मम्मी और उसका छोटा भाई था लेकिन रास्ते में मेरी तबीयत काफी खराब होने लगी और मुझे उल्टियां होने लगी रास्ते में कोई भी मेडिकल शॉप नहीं दिख रही थी मेरी हालत काफी खराब होने लगी हम लोग गाड़ी खड़ी कर के एक जगह पर रुक गए वहीं पर कुछ लोग भी खड़े थे और वह लोग फोटो खींच रहे थे मेरी तबीयत काफी खराब होने लगी तो सामने से एक युवक दौड़कर आया और वह मेरी मम्मी से पूछने लगा आंटी क्या हो गया है? मेरी मम्मी ने कहा कि हम लोग घूमने के लिए आए थे लेकिन मेरी लड़की की तबीयत काफी खराब होने लगी है इसी के चलते हम लोगों को यहां रुकना पड़ा। उस युवक ने अपनी गाड़ी से दवाई निकाल कर मेरी मम्मी को दे दी और जब मैंने वह दवाई ली तो उसके बाद मुझे थोड़ा आराम मिला हम लोग आधा घंटे तक वहां पर रुके रहे मेरी बात करने की इतनी हिम्मत तो नहीं हो पा रही थी लेकिन मैं उस युवक का चेहरा नहीं भूल पाई थी, हम लोग जब मनाली पहुंच गए तो मैंने उस दिन आराम किया और अगले दिन जब मैं पूरी तरीके से स्वस्थ हो गई तो हम लोग बाहर टहलने के लिए निकले उसी दौरान वही युवक मुझे दिखाई दिया और मैंने अपनी मम्मी से कहा कि क्या कल यही युवक था जिसने मुझे दवाई दी थी? मेरी मम्मी कहने लगी हां बेटा यह वही लड़का है।

मैंने मम्मी से कहा आप लोग चलिए मैं और पायल अभी आते हैं मैं उस लड़के से मिली और मैंने उससे हाथ मिलाते हुए अपना नाम बताया उसने भी अपना नाम बताया उसका नाम रोहित है उसके साथ एक और युवक था उसका नाम कमल है कमल और रोहित काफी अच्छे से बात कर रहे थे मेरे साथ पायल भी थी और हम लोग बातें करते करते काफी आगे तक निकल आए थे, मैंने रोहित से कहा लगता है अब हमें वापस जाना चाहिए हम लोग काफी आगे तक निकल आए हैं रोहित कहने लगा ठीक है तुम अपने होटल चले जाओ और हम लोग भी ऑफिस चलते हैं, पायल और मैं अपने होटल वापस आ गए मैंने अपनी मम्मी को फोन किया तो वह लोग कहने लगे बस हम लोग कुछ देर में आते हैं वह लोग भी कुछ देर बाद पहुंच गए, मुझे उस दिन रोहित से बात कर के ना जाने ऐसा क्यों लगा कि जैसे मैं उसे काफी समय से जानती हूं और उससे मुझे एक अलग ही प्रकार का जुड़ाव महसूस होने लगा उसके साथ बात करना मुझे बहुत अच्छा लग रहा था उस दिन मुझसे यह गलती हो गई कि मैं उसका नंबर नहीं ले पाई लेकिन मुझे नहीं पता था कि वह अगले दिन भी हमें मिल जाएगा। अगले दिन रोहित और कमल हमें दोबारा से मिल गए, पायल और मैं उन दोनों के साथ ही टहलने लगे हम लोग एक बार में जाकर बैठ गए कमल और पायल को भी एक साथ समय बिताना अच्छा लग रहा था और वह लोग एक दूसरे के साथ काफी अच्छे से बात कर रहे थे क्योंकि वह दोनों के ख्यालात एक दूसरे से काफी मिल रहे थे इसलिए वह दोनों दूसरे बेंच पर जाकर बैठ गए, मैं और रोहित साथ में बैठे हुए थे रोहित और मैं एक दूसरे को जानने की कोशिश कर रहे थे मेरी रोहित के साथ जितनी देर तक भी बात हुई उतनी देर तक मुझे उसके साथ बात करना बहुत अच्छा लग रहा था। रोहित मुझे कहने लगा रीना तुम्हारे साथ बात करना मुझे बहुत अच्छा लग रहा है। मेरे अंदर से ना जाने एक अलग ही फीलिंग आ रही थी, जब रोहित ने मेरे कंधे पर हाथ रखा तो मुझे कोई भी आपत्ति नहीं हुई।

Pages: 1 2

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *