भाई बहन को दोस्तो ने बनाया रंडी

पिछला पार्ट – बहें की बर्बादी-2

हेलो मेरे रीडर्स उमीद करता हूँ आप सब ठीक होंगे. मुझे अच्छा लगा अबकी बार मुझे रेस्पॉन्स है और अप्रिसियेशन मिला. आप जितना ज़्यादा अप्रीशियेट करेंगे मुझे लिखने मे उतना उत्साह मिलेगा.

तो जैसा की पीछे पार्ट मे आपने पढ़ा की राज और रूपेश दोनो ने मिलके मेरी बहें आयुषी की बेदर्दी से चुदाई की. और वीडियो और फोटो निकले और ह्यूम छ्होर दिया.

मई आयुषी को घर पे लाके सुला दिया और रात मे खाने के टाइम भी वो सो रही थी. तो मम्मी ने पूछा की वो इतनी लाते तक क्यू सो रही है. मैने कहा की उसे बुखार आया था स्कूल मे इसी वजह से ताकन है जबकि असलियत तो कुछ और ही थी.

मम्मी ने मुझे टॅबलेट दिया और आयुषी को देने को बोला. मई और आयुषी एक ही रूम मे सोते थे जिसमे अलग अलग बेड था उसका एक साइड और मेरे एक साइड और बीच मे प्लाइवुड की एक पतली सी दीवार थी जो सिर्फ़ आधा रास्ता कवर करती थी.

मई आयुषी के पास गया वो जाग रही थी मगर लेती हुई थी. और उपेर सीलिंग को देख रही थी. मैने उसे दवाई दी तो उसने चुप छाप ले ली और दूसरी तरफ मूह कर लिया.

फिर मई भी जाके बेड पे लाते गया और फोन चलाने लगा. फिर थोड़ी देर बाद आयुषी उठ के बैठ गयी आंड उसने मुझे देखा आंड मैने उसे देखा. वो उठ के मेरे बेड पे आ गयी और बोली-

आयुषी : भैया ये आज क्या हुआ उन लोगो ने मेरे साथ ऐसा क्यू किया??

मई : आयुषी मैने राज की बहें के बारे मे ग़लत रूमर फैलाए थे. लेकिन उसका बदला ये होगा ये नही पता मुझे. सॉरी मुझे माफ़ करदो प्लीज़ आयुषी..

आयुषी : नही भैया मुझे भी रूपेश को अपना ब्फ नही बनाना चाहिए था. मुझसे भी ग़लती हुई मई भी उसकी बातों मे आ गयी. ये जो भी हुआ उसकी ज़िम्मेदार मई भी हूँ आप अकेले नही.

और आयुषी मेरे गले लग के रोने लगी. फिर मैने उसके आँसू पोचे और बोला की ह्यूम ये बात मम्मी पापा को बता देनी चाहिए वो ह्यूम ब्लॅकमेल करते रहेंगे.

आयुषी : नही भैया अगर बताने के बाद उन्होने वीडियो लीक कर दिया. तो मेरे साथ आप सबकी भी ज़िंदगी खराब हो जाएगी.

मई : तो फिर हम क्या करेंगे, वो तुम्हे ऐसे हुमेशा ही बुलाएँगे और छो… “और मई रुक गया फिर सोच के”.. तुम्हारे साथ ऐसे ही करेंगे वो हुमेशा फिर.

आयुषी : वो हुमेशा मुझे “छोड़ेंगे” ऐसे ही ना, यही बोलना चाह रहे हो ना आप? मुझे पता है.

मई : तू ये सब वर्ड्स भी बोलती है आयु ये सब तूने कब सीखा?

आयुषी : भैया मैने भी सब 9त क्लास से जानती हूँ.

मई : मुझे रूपेश ने बोला ना की तुम पहले भी किसी से छू… “फिर रुक गया” ये कर चुकी हो, क्या वो सच है?

आयुषी : हन भैया ये सच है मई इससे पहले भी एक बार चुड चुकी हूँ.

मई : कब, किससे?

आयुषी : हार्दिक सिर से..

मई : हार्दिक सिर वो हमारे फिज़िक्स के टीचर?

आयुषी : हन भैया मुझे फिज़िक्स मे एक बार उन्होने चीटिंग करते हुए पकड़ लिया था चिट्स एक साथ. तो वो मुझे स्टाफ रूम लेके गये थे और वाहा वो घर पे फोन करने वेल थे. फिर उन्होने मुझे बोला की वो मुझे पास कर सकते है एक शर्त पर. और फिर उन्होने मुझे छोड़ा और पास कर दिया.

मई अपने दिमाग़ मे सोच रहा था की मैने राज के बहें के लिए जो बोला था वो तो मेरी बहें की कर रही है. वो टीचर से चुड रही है नंबर के लिए.

मई : तुम किसी और से भी चूड़ी हो आयुषी?

(अबकी बार मैने पूरा वर्ड बोल दिया.)

आयुषी : नही भैया उसके बाद आपके दोस्तो ने ही मुझे छोड़ा है वो भी एक दूं रंडी की तरह.

आयुषी अब तक मेरे सीने पे सिर रखी ही हुई थी. और मुझे अचानक से याद आया मैने घर आते वक़्त ई पिल की गोली ली थी उसके लिए. मई उठा और उसको डेडी.

उसने भी वो गोली खा ली तभी उसके फोन पे वीडियो कॉल आया रजनी का जो की राज की बहें है. आयुषी की वो अच्छी दोस्त थी तो उसने फोन उठाया-

रजनी : और रंडी कैसी है??

आयुषी : ये कैसे बात कर रही हो मुझसे तुम रजनी माइंड युवर वर्ड्स!

रजनी : तूने व्हातसपप नही देखा क्या, देख ले एक बार..

आयुषी ने व्हातसपप ओपन किया तो एक नया ग्रूप बना हुआ था जिसका नाम था “भड़वा रोहित रंडी आयुषी”

उसमे हम दोनो आड थे.

मैने देखा तो उसके आडमिन थे ये रजनी और राज और मेंबर्ज़ से मेरे और राज के कामन फ्रेंड्स. जिनके नाम विपिन गौरव शुबँ अनिल और अभिषेक और रूपेश और उसके 3 दोस्त आशु संतोष मयंक और रजनी की 3 दोस्त. जिनके नाम माया पूजा और रिया थे. तो टोटल वो ग्रूप मे 16 लोग थे सबको मिला कर और सब मेरे राज रजनी और आयुषी के कामन फ्रेंड्स थे.

उसमे आज की सारी वीडियो भेजी गयी थी. बस ये था की सब भरोशे मंद थे इसलिए वो ग्रूप सेफ था. और उसकी ड्प थी जिसमे आयुषी के मूह पे राज और रूपेश मूत रहे थे.

सब उस ग्रूप पे मुझे गाली दे रहे थे और आयुषी को भी. मई समझ गया की अब ये सब के सामने होगा जो होगा.

तभी रजनी का ग्रूप वीडियो कॉल आया और आयुषी और मैने एक ही फोन से जाय्न किया. सब मुझे और आयुषी को देख के हासणे लगे और गलिया देने लगे.

रजनी ने कहा मुझे-

रजनी : ओह भद्वे चल अपनी बेहन की नंगा कर और सबको दिखा!

मई : पागल हो गयी हो क्या रजनी?

रजनी : मदारचोड़ सेयेल रुक अभी बताती हूँ!

उसने आयुषी की एक वीडियो फॉर्वर्ड कर दी स्कूल के बच्चो के अनाफीशियल ग्रूप मे. और फिर तुरंत उसे डेलीट भी कर दी ताकि कोई देख ना पाए.

रजनी : अभी बार डेलीट कर दी नेक्स्ट टाइम नही होगी.

मेरी गांद फट गयी मैने आयुषी को देखा उसने मुझे देखा और आँखों से इशारा किया जो वो बोल रही है वो करदो. मई फोन सेट्ल किया आंड आयुषी के एक एक करके कपड़े निकले और आयुषी को पूरा नंगा कर दिया.

राज : चल तेरी बहें को ऐसे लेता जैसी उसकी छूट सबके सामने हो.

मैने आयुषी को ऐसे ही लेटया और आयुषी ने खुद अपनी टाँगे फैला ली जैसी को वो आक्सेप्ट कर चुकी थी अपना फटे.

रूपेश : इसी छूट मे आज हुँने अपना माल गिारेया था क्यू रंडी!

आयुषी ने हन मे सिर हिलाया.

रजनी : सुन भद्वे कल 6 बजे स्कूल आ जाना अपनी बहें को लेके.

हुमारा स्कूल 7:30 का होता है और क्लासस 8 बजे से होती है. मई समझ गया था की अगले दिन उसका क्या होने वाला था.

नेक्स्ट कहानी अगले पार्ट मे. बाकी आप सब मुझे कॉमेंट्स मे ज़रूर बताए कैसी लगी आपको कहानी और मुझे एमाइल करे – बेवाफ़ग्फमेरी[email protected]गमाल.कॉम पर अपने पायंट्स देने के लिए.