सुबह सवेरे बीवी की मदमस्त चुदाई

अन्तर्वासना पर कहानी पढ़ने वाले सभी मित्रों और भाभियों को कुमार का नमस्कार. जिन्होंने मेरी पहले की कहानी
प्यारी बीवी की गांड चोदकर वीर्य भर दिया
पढ़ी है, उन सबको मेरे बारे में पता होगा. लेकिन जिन लोगों को मालूम नहीं है, उनके लिये मैं अपना परिचय देना चाहता हूँ.

सोलापुर से बीस किलोमीटर पर मेरा गांव है. मेरी आयु अभी 46 वर्ष है. मैं दिखने में स्मार्ट हूँ, गोरा हूँ. मेरी शादी को 19 साल हो गए हैं. इन उन्नीस सालों मैंने और मेरी बीवी ने बहुत चुदाई की है.

बीवी की चुत की चुदाई करके इतना काबिल हो गया हूँ कि अब मैं अपनी बीवी को, वो जितनी देर चुदाई करवाती है, उतनी देर तक उसकी चुत की चुदाई कर देता हूँ. ये मेरी खासियत बन गई है कि मेरा वीर्य तभी छूटता है, जब मैं चाहता हूँ. औरत को किस तरह से चुदाई करके खुश करना है, वो मुझे अच्छी तरह से पता है.

कुछ बातें ऐसी भी हैं, जो करने से औरत खुद पर काबू नहीं रख पाती, बेकाबू हो जाती है. वो अपनी चुत से पानी बहने से खुद भी रोक नहीं पाती. वो मेरे साथ हर हाल में संतुष्टि की परम सीमा पार कर जाती है. कभी कभी मुझे लगता है कि जो औरतें चुदाई में असंतुष्ट हैं, चुत की चुदाई की भूखी रह जाती हैं, मैं उनको चोद कर उनको आनन्द प्रदान करूं और थोड़ा पुण्य कमा लूँ.

खैर, आज मैं आपके सामने अपनी और अपनी बीवी की चुत की चुदाई की नई घटना लेकर आया हूँ. पढ़ कर बताइएगा जरूर, शायद आपको पसंद आएगी.

हर रोज की तरह हम दोनों मियां बीवी रात को नंगे ही सो गए थे. हम हर रोज तो चुदाई करके ही सोते हैं, लेकिन रात में हमारी चुदाई नहीं हो सकी थी. मुझे मालूम था अगर मेरी बीवी रात में बिना चुदाई किए सो गई है, तो सुबह हमारी चुदाई जरूर होगी.

यही हुआ … सुबह सवा पांच हुए थे. मेरे लंड पर मेरे बीवी का हाथ था. वो मेरे लंड को हल्का हल्का मसल रही थी, जिसकी वजह से मेरी नींद खुल गई.
मैंने अपनी बीवी पूजा से टाईम पूछा, तो वो बोली- सवा पांच बजे हैं.

अब मेरा लंड खड़ा हो गया था. मैंने पूजा को अपनी तरफ खींच कर उसके होंठ अपने होंठों में दबा लिए और चूसने लगा. मेरी बीवी भी मुझे साथ देने लगी. हम दोनों पांच मिनट तक एक दूसरे के चूसते रहे. फिर वो नीचे जाकर मेरा लंड मुँह में लेकर चूसने लगी. मेरी बीवी मेरा लंड को चूस कर गीला भी कर रही थी.

फिर क्या था कुछ ही पलों में मेरा लंड सात इंच का कड़क सरिया बन गया था. मेरी बीवी अब भी मेरा लंड अपने मुँह में लेकर जोर जोर से चूस रही थी. जब भी वो बहुत चुदासी होती है, उसकी चुत में जब ज्यादा खुजली होती है, तो वो मेरा लंड ऐसे ही जोर जोर से चूसती है.

दस मिनट तक मेरा लंड चूसने के बाद मेरी बीवी मेरे ऊपर आकर मेरी कमर की दोनों बाजू अपने चिकने पैर रखकर कमर पर बैठ गई. उसने मेरा लंड अपनी मुठ्ठी में पकड़ा और चुत में सैट करके मेरा लंड अपनी चुत में लेकर बैठ गई. उसने अपने पैर घुटनों से मोड़कर पीछे की तरफ मोड़ लिये थे.

जब मेरा लंड उसकी चुत में घुस गया, तो मेरी बीवी के मुँह से आह निकली. यह मेरे बीवी का पसंदीदा स्टाइल है. लंड बीवी के थूक से काफी चिकना हो गया था, इसलिये मेरा लंड मेरी बीवी के चुत में झट से पूरा अन्दर तक घुस गया.

अब वो अपना शरीर ऊपर नीचे करके अपनी चुत चुदवा रही थी. कुछ ही देर में वो अपने मुँह से आ..ह ओह … उम्म्ह… अहह… हय… याह… इस्स … की आवाजें निकाल रही थी.
पूजा ने चुदाई की रफ्तार बढ़ा दी. वो अब मेरा लंड अपनी चुत में तेजी से अन्दर बाहर कर रही थी. वैसे ही उसके मुँह से तेज तेज आह … निकलता हुआ मुझे बहुत अच्छा लग रहा था.

पूजा- मेरी चुत रात से मचल रही है … आह अन्दर तक मजा दो न.
मैं- ले मेरी प्यारी चुत … ले लंड अन्दर ले ले.
वो मेरे ऊपर झुक गई, उसने अपने हाथों से अपना एक दूध पकड़ कर निप्पल मेरे मुँह में दे दिया और कहा- लो मेरा दूध पियो.
उसने मेरा दूसरा हाथ लेकर अपने दूसरे थन पर रखकर दबाने के लिये कहा.

मैं दो काम एक साथ कर रहा था. दूध भी पी रहा था और उसके मम्मे को मसल भी रहा था.
पूजा कहने लगी- आह राज जोर पियो … मेरा दूध जोर से पियो आ….ह … मेरे मम्मे को जोर से मसलो इस्स … मेरी चुत में कुछ हो रहा है.

फिर उसकी मोटी गांड तेजी से ऊपर नीचे होने लगी. उसने मेरे बालों में उंगली डालकर मेरे बाल कसकर पकड़ लिये. झटके से मेरा लंड अपनी चुत में पूरा ले लिया. कुछ ही झटकों के बाद उसके मुँह से तेज चीख निकली और वो मेरे ऊपर गिर पड़ी. पूजा का काम तमाम हो गया था. उसकी चुत ने पानी छोड़ दिया था. उसकी चुत का पानी लंड से बहकर मेरे आंडों पर आ गया था.

Pages: 1 2

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *