शादी मे आंटी को चोदा

हाय आई एम सिद्धार्थ देल्ही का रहने वाला हूँ मैं 1स टाइम स्टोरी लिख रहा हूँ जो मैने अपनी सुशीला आंटी को चोदा. यह स्टोरी मेरी और मेरी आंटी की है, मेरी आंटी की उमर 35ईयर्स है और उनकी हाइट भी काफ़ी अछी है बड़े बड़े बूब्स और बड़ी बड़ी गॅंड के साथ वो एक कामदेवी से कम नही लगती है. मेरी उमर 23ईयर की है बॉडी अछी है बट कभी मैने अपने लंड का साइज़ मेजर नही किया और ज़रूरत भी नही पड़ी और इतना है जो किसी आंटी भाभी और किसी भी लड़की को सॅटिस्फाइ कर सकता है और कोई भी आंटी भाभी या गर्ल मुझसे सीक्रेट रीलेशन रखना चाहती हो तो मुझे मैल करे [email protected] पर. आपको और ना बोर करते हुए सीधे स्टोरी पर आता हूँ, मेरे घर मे मेरी मा पापा भाई और मेरे अंकल आंटी और उनके बच्चे रहते. मैं घर मे सबसे शर्मिला लड़का हूँ आंटी से बोहोत कम बात करता था मैने कभी आंटी के लिए कभी ग़लत नही सोचा था बट इस पर स्टोरी पढ़ने के बाद और उन्हे एक बार कपड़े चेंज करते हुए देखने के बाद आंटी को मैं ग़लत नज़रो से देखने लगा.

मैं डेली उन्हे सोच सोच कर मूठ मारने लगा और डेली सोचता था मैं उन्हे कैसे चोदु अगर मैने कोई हरकत करी तो किसी को पता ना चल जाए सो मैं डरता भी था पर जब भी वो मेरे सामने होती थी तो मैं उनके बूब्स को ही घूरता रहता था और उन्होने 2-3 बार यह करते हुए देख लिए पर कुछ नही कहा इससे मेरी हिम्मत और बढ़ गयी और मैं उनके कमरे मे किसी ना किसी बहाने से जाने लगा पर कभी उन्हे सिड्यूस करने का चान्स नही मिला यह सिलसिला चलता रहा और मैं उनके बाथरूम मे जाकर उनकी ब्रा और पैंटी को सूँघता था क्या मदहोश करने वाली स्मेल आती थी और एक दिन उन्होने मुझे उनकी ब्रा पैंटी सूंघते हुए पकड़ लिया और मुझे कमरे मे ले जाकर डाटने लगी और मैने डरते हुए कहा ऐसा कुछ नही है वो मैं बाथरूम मे वॉटर टॅप चेक करने गया था पर उनका गुस्सा कम नही हुआ

सो मैने उन्हे डाइरेक्ट बोल दिया की आप मुझे बोहोत अछी लगती हो तो उन्होने कहा मेरी तो उमर बोहोत हो गयी है तू अपनी एज की लड़की को पटा पर मैने उनकी तारीफ़ करना स्टार्ट कर दिया आप तो अभी भी यंग लगती हो अगर आपकी शादी ना हुई होती मैं आपको ही जीएफ़ बना लेता तो उन्होने कहा सच मे सिड मैने कहा हान और मैने उन्हे आई लव यू कहकर किस करना स्टार्ट कर दिया और उन्होने भी मेरा साथ दिया और 5मिनट किस करने के बाद हम अलग हुए और उन्होने मुझे आई लव यू टू कहा फिर हम अलग हुए क्योकि कोई आ ना जाए. फिर हम एक चान्स का वेट करते रहे और वो दिन आ ही गया.

हमे एक रिलेटिव के यहा शादी मे जाना था वो देल्ही के बाहर एक होटेल मे थी और पूरी फॅमिली को जाना था बट आंटी अकेली ही आई उनके बच्चे फ्रेंड्स के साथ ट्रिप पर गये थे और अंकल बिज़्नेस टूर पर के लिए निकले थे जिस दिन हमे शादी मे जाना था तो फिर मेरी फॅमिली और आंटी मन ही मन कुश हुए और वाहा जाकर मैने और आंटी ने एक ही रूम मे रुकने का फ़ैसला किया कॉज़ एक रूम मे मेरा भाई मा और पापा था और फिर मैं और आंटी बचे थे सो हमने एक ही रूम मे रुकने का फ़ैसला किया. रूम मे घुसते ही मैं और आंटी एक दूसरे को हग करते हुए एक दूसरे को किस करने लगे और मैं उपर से उनके बूब्स दबाने लगा उन्होने सारी पहनी हुई थी मैं उनके ब्लाउस के उपर से ही उनके बूब्स को चूमने लगा और अचानक ही डोर बेल बजी और हम अलग हुए भाई था घूमने जाने के लिए बुलाने आया था पर आंटी और मैने मना कर दिया ऐसे थके हुए है एंडऑल.

Pages: 1 2