नकली लंड से तोड़ी चूत की सील

मेरा नाम राहत खान है और दिल्ली की रहने वाली हूँ। जो कहानी में आप को सुनाने जा रही हूँ वो एक सच्ची कहानी है और मैं अपना रियल एक्सपीरियंस आप लोगों के साथ शेयर कर रही हूँ।
मेरी उम्र 19 साल है, मेरी बॉडी का साइज़ 32 28 32 है। जैसे मैंने 12वीं क्लास पास की तो मैं कॉलेज जाने से पहले मुझे मेरे पापा ने एक एंड्राइड मोबाइल फ़ोन ख़रीद कर दिया।
मैंने कॉलेज में एडमिशन ले लिया और मैं घर से कॉलेज जाने लगी।

उस टाइम मुझे सेक्स के बारे में ज्यादा कुछ पता नहीं था। मेरा कोई बॉयफ्रेंड नहीं था। मेरी सहेली का एक बॉयफ्रेंड था। मेरी सहेली ने अपने बॉयफ्रेंड के साथ कैसे सेक्स किया और कितनी बार सेक्स किया और किस किस तरीके से सेक्स किया है और कैसे सेक्स किया उसने मुझे सब कुछ बताया था स्टेप बाय स्टेप।

उसकी बातें सुनकर मेरी वासना भी जोर मारने लगी, मुझे भी सेक्स करने का मन करने लगा. लेकिन आजकल के लड़कों का कोई भरोसा नहीं होता कि वो क्या से क्या कर दें।

एक दिन मेरी सहेली ने बताया कि उसके बॉयफ्रेंड ने दारू के नशे में कुछ अपने दो दोस्तों से उसके साथ सेक्स करवाया। अब उसके बॉयफ्रेंड के दोस्त इस लड़की के साथ जब मर्जी जब सेक्स करते हैं।
लड़कों के साथ तो मैं भी सेक्स करना चाहती थी लेकिन सब लड़के एक जैसे नहीं होते. अगर मेरी फैमिली में किसी को पता चल जाता तो मेरी फॅमिली मुझे घर से बाहर निकाल देती।
वैसे मेरी फ्रेंड का लड़कों के साथ सेक्स करने से काफी अच्छा फिगर बन गया था, उसके बदन पर कपड़े भी काफी अच्छे लगते थे उसके फिगर की वजह से।
अब मैं अपनी सहेली के बारे में बातें करना बंद करती हूँ।

अब मैं आपको अपने बारे में बताती हूँ। सितम्बर में मेरा सेक्सी वीडियो देखने का मन किया तो मेरे मोबाइल में मैंने पोर्न मूवी देखना स्टार्ट कर दिया। मुझे उनमें देख कर बहुत अजीब लगा कि लड़की लड़के के लंड को मुंह में लेकर चूसती है और उसे बिल्कुल भी जो बुरा नहीं लगता है। लड़के भी लड़की की चूत को चाटते हैं. ये सब देखकर मेरे दिल में अजीब सी झंकार होने लगी, मुझे थोड़ा अच्छा भी लगा और बुरा भी … थोड़ी घिन सी भी हुई कि लंड और चूत से हम पेशाब करते हैं तो ये हमारे शरीर के गंदे अंग है और ये लोग इन्हें मुंह में लेकर चूस रहे हैं, जीभ से चाट रहे हैं और काफी मजे से चाटते हैं।

धीरे धीरे मुझे सेक्स की वीडियो में देखने में मज़ा आने लगा और मुझे सेक्स के बारे में काफी नॉलेज हो गयी और मैं अपनी चूत में उंगली भी करने लगी थी। मैं रोज रात को सेक्सी वीडियो देख कर चूत में उंगली करती थी और अपना पानी निकलने के बाद सो जाया करते थी। वैसे अब मेरी चूत हर वक्त उत्तेजना के कारण गीली रहती थी और मुझे चूत में उंगली करने में बहुत मज़ा आता था।

वैसे तो अब लंड लेने का मेरा पूरा मन करने लगा था. लेकिन ना तो लड़कों का भरोसा होता है और न ही मैं घर से बाहर निकल सकती हूँ। मुझे पोर्न वीडियो काफी अच्छी लगती थी। मैंने सब तरह की वीडियो देखी थी फॅमिली वाली मतलब भाई बहन वाली, भाभी देवर वाली, जीजा साली वाली भी देखी थी।

मेरे शरीर का रंग गोरा है। मुझे कम उम्र की लड़कियों की पोर्न मूवी देखने में काफी ज्यादा मज़ा आता था। मुझे देखने में ज्यादा मज़ा आता था कि लड़कियाँ कितने बड़े बड़े लंड को अपनी चूत के अंदर ले जाती हैं।

ऐसे ही रोज रात की तरह मैं सेक्स की वीडियो देख रही थी। और मैंने एक वीडियो ऐसी देखी जिसमें एक लड़की को नकली लंड रबड़ का डिल्डो यूज़ करते देखा। मुझे यह देखने में बहुत मज़ा आया कि वो लड़की अपनी चूत में नकली लंड को किस तरीके से घुसाकर चुदाई के मजे ले रही थी।

मैंने सोचा कि यह नकली लंड मेरे लिए ठीक है. इससे मेरी बात बाहर भी नहीं जायेगी. मैंने नकली लंड को गूगल पर सर्च किया और देखा कि इंडिया में मिलता है या नहीं मिलता है। मुझे ऐसी वेबसाइट मिली जिन पर नकली लंड बेचा जा रहा था।
मैंने देखा कि नकली लंड की कीमत 1200 रुपये से लेकर 1500 रूपए तक है।

फिर मैंने गूगल पर नकली लंड के फायदे और नुकसान पढ़े। नकली लंड के फायदे देखने के बाद मेरा भी मन करने लगा नकली लंड को खरीदने का। वैसे तो मैं ऑनलाइन काफी ज्यादा सामान ख़रीदा थे, मैंने काफी प्रोडक्ट ऑनलाइन ख़रीदे हैं।
लेकिन मुझे डर था कि अगर मैं नकली लंड आर्डर कर दूँ तो बॉक्स पर लिखा ना आ जाये कि उसके अंदर क्या है। लेकिन फिर मुझे पता चला कि बॉक्स पर पता के इलावा कुछ नहीं लिखा आता।
तो नकली लंड मैंने आर्डर कर दिया.आपकी उसकी फोटो भी देख सकते हो।

और मैंने इसे घर की जगह कॉलेज में मंगाया। मुझे बड़ी आसानी से आर्डर मिल गया।
मेरी फ्रेंड्स ने पूछा भी इस बॉक्स में क्या आर्डर है. तो मैंने कह दिया कि पापा ने कुछ मंगाया है। पापा नहीं ले सकते तो मैंने ले लिया।
फिर मैंने उसे बैग में रख लिया उसके बारे में सोच-सोचकर मेरी चूत गीली हो गयी।

फिर कोलेज के बाद मैं अपने घर आ गयी और नकली लंड मेरे बैग में था।

शाम के टाइम हमारे घर में कोई होता नहीं। उस टाइम नवंबर का महीना चल रहा था। तो मैंने नकली लंड को बैग से बाहर निकाला वो काफी सॉफ्ट था। वो असली की तरह लग रहा था। वो 18 सेमी लम्बा था और 4.2 सेमी व्यास का मोटा था। बहुत ज्यादा सॉफ्ट और चिकना था, टच करने में भी मज़ा आ रहा था।

मैंने अपनी कुंवारी चूत में कुछ और चीज़ घुसाना सही नहीं समझा क्योंकि बीमारी होने का डर था। आज तक मैं किसी से चुदी नहीं थी, सिर्फ सेक्स वीडियो देख कर चूत में उंगली की थी और उसमे काफी मज़ा आता था मुझे।

तो दोस्तो, उस डिल्डो का पहली बार प्रयोग करने के लिए मैं अपने वाशरूम में घुस गयी और मैंने अपने सारे कपड़े निकाल दिए। अब मैंने और नकली लंड को भी बाहर निकाल लिया. वो मेरी चूत के छेद से काफी बड़ा था। मैंने अभी तक अपनी प्यारी सी चूत में दो उँगलियों से ज्यादा कुछ नहीं डाला था कभी। इसलिए मेरी चूत टाइट थी।

तो मैंने नकली लंड के आगे के हिस्से यानी सुपारे पर पर थोड़ा सा थूक लगाया और और चूत पर फिराने लगी। मुझे काफी मज़ा आ रहा था. वैसे मुझे असली लंड का कोई अनुभव नहीं था पर ऐसा लग रहा था कि वो बिल्कुल असली लंड हो!

उसका टॉप ज्यादा बड़ा था मेरी बुर के छेद से. हालांकि मेरी चूत पूरी गीली हो रही थी उसके बारे में सोच सोच कर … फिर भी मैंने जल्दी करना ठीक नहीं समझा. कुछ सोच कर मैंने डिल्डो पर थोड़ा सा तेल भी लगा लिया ताकि अगर मैं इसे अपनी चूत में घुसाऊँगी तो कम तकलीफ के साथ घुस जाए.

फिर मैं नीचे बैठ गयी और अपनी गांड के नीचे कपड़े रख लिए और नकली लंड को अपनी चूत पे फिराने लगी। मैं अपनी चूत में लंड का थोड़ा सा टोपा घुसाती और बाहर निकाल देती। इसमें ही मुझे बहुत मजा आ रहा था.

फिर मैंने सोचा कि असली मजा तो तब आता है जब लंड चूत के अंदर पूरा जाता है. मैंने अपना मन पक्का किया और एक बार एक झटके में डिल्डो का पूरा टोपा अपनी चूत में घुसा लिया।
एकदम मुझे तेज दर्द हुआ तो मैं रुक गयी। फिर कुछ देर में दर्द कुछ कम हुआ तो मैं उसे आराम आराम से अंदर करने लगी। लेकिन वो घुस नहीं रहा था।

फिर मैंने क्या किया … मैं उतना ही टोपा को अपनी चूत में घुसा लेती थी फिर बाहर निकाल लेती। ऐसी ही कुछ देर मैं डिल्डो के आगे के हिस्से को अंदर बाहर करने लगी.

तब मैंने कुछ सोचा और डिल्डो को जमीन पर खड़ा करके उस पर अपनी चूत टिका कर बैठने लगी. मैंने उसको चूत के छेद पर सेट किया और टोपा अंदर घुसने लगा।
मुझे दर्द हो रहा था फिर भी मैं हिम्मत रख कर उसे अपनी चूत के अंदर लेने की कोशिश कर रही थी.

फिर अचानक वाशरूम में फिसलन की वजह से मैं फिसल गयी और एकदम झटके से वो डिल्डो पूरा मेरी चूत में घुस गया. मुझे एकदम से बहुत दर्द हुआ, मैं रो पड़ी, मेरी आँखों से आंसू आने लगे। और मेरी चूत में से शायद खून भी निकलने लगा जिसे देख मैंने और डर गयी. मुझे दर्द हो रहा था। उसकी वजह से मैं जैसी थी वैसे बैठी रही। पूरा डिल्डो मेरी चूत में घुसा हुआ था.

जैसे ही दर्द कम हुआ, मैं इस सदमे से उबरी तो मैंने नकली लंड को अपनी चूत से बाहर निकाल दिया. मैंने देखा कि वो मेरी चूत के खून से सना हुआ था। मुझे खून देख कर टेंशन होने लगी। मैंने उसे साफ़ कर दिया और मैंने अपनी ताजी ताजी फटी चूत पर हाथ लगाया तो मेरे हाथ पर भी काफी खून लग गया था। मैं और घबरा गयी.

मैंने अपनी चूत को ठंडे पानी से धोया ताकि अगर खून बह रहा हो तो बहना रुक जाए.
फिर मैं गर्म पानी से नहा कर बाहर आ गयी.

मुझे अब चूत में अजीब सा फील हो रहा था गीला गीला और खाली-खाली! ऐसा महसूस होने की वजह से मुझे चलने में भी अजीब सा लग रहा था।
मैंने नेट पर सर्च किया कि लड़की की कुछ चूत में कुछ घुसाने से खून निकलने के क्या कारण होते हैं। फिर मुझे पता चल गया कि लड़की जब फर्स्ट टाइम सेक्स करती है या अपनी चूत में कुछ डिल्डो या कोई और छीज जैसे मोमबत्ती, मूली, गाजर आदि घुसाती है तो उसकी चूत से सील टूटने पर खून निकलता है।

मैंने और भी पढ़ा कि उसके बाद लड़की को काफी मज़ा आता है.
मेरी चूत में मैं खाली-खाली सा फील कर रही थी जो मुझे अच्छा लग रहा था।

फिर मैंने रात होने का इंतजार किया। मैं अकेली ही अपने रूम में सोती थी। तो जैसे रात को सब सो गये तो मैंने नकली लंड को इस्तेमाल करने की सोची। फिर मैं पूरी नंगी हो गयी। मैंने गांड के नीचे एक तकिया रख लिया और नकली लंड पर थूक लगा कर चूत के ऊपर फिराने लगी।

फिर मैंने आराम से उसका टोपा चूत में घुसाया और बाहर निकाल लिया। मुझे काफी मज़ा आ रहा था, ऐसा लग रहा था कि कोई जवान लड़का मेरी चूत पर अपना लंड फिरा रहा हो, मेरी चूत में घुसा रहा हो।

फिर मैंने आराम-आराम से नकली लंड को चूत में घुसा लिया। और इस बार मुझे थोड़ा सा दर्द हुआ। लेकिन मज़ा भी आ रहा था. फिर मैं उसे आगे पीछे करने लगी। सच में मुझे ऐसा फील हो रहा था कि मैं दूसरी दुनिया में आ गयी हूँ।

मेरी चूत पानी छोड़ने लगी थी तो चूत काफी चिकनी हो गयी थी और नकली लंड भी पूरा गीला हो गया था।
और मेरा 15 मिनट बाद पानी निकल गया और आज काफी ज्यादा पानी निकला था. मुझे भी काफी ज्यादा मज़ा आया।

फिर मैंने अपनी चूत को देखा तो वो पूरी रस गीली हो रही थी. मैंने अपनी चूत का रस टेस्ट किया, मुझे वो अच्छा लगा।

और फिर मैं सो गयी।

तब से अब तक मैं पोर्न वीडियो देख कर नकली लंड का उपयोग करती हूँ और मजा लेती हूँ। मुझे काफी अच्छा लगता है, खूब मज़ा आता है. रोज उसे चूत में डिल्डो डालने से मेरी चूत का छेद गोल हो चुका है जो काफी अच्छा लगता है देखने में!

मेरे बूब्स का साइज़ भी 34डीडी हो गया है. मेरे कूल्हों का साइज़ भी बड़ा हो गया है 36″.

अब मुझे सब तरह के कपड़े सूट करते हैं और लड़के मेरे फिगर को देखते ही रह जाते हैं. रोज चूत चोदने से मेरा चेहरा भी निखर गया है. मैं देखने में काफी हॉट लगने लगी हूँ और मेरी गांड भी ऊपर की तरफ उठ गयी है।

फिर मैंने एक दिन नकली लंड को अपनी गांड में घुसाने की सोची. शनिवार की रात को मैं पूरी नंगी हो गयी और नकली लंड पर मैंने काफी तेल लगा लिया और उसे बड़े आरम से अपनी गांड में घुसाने लगी।
लेकिन मेरी गांड इतनी टाइट थी कि वो एक इंच भी नहीं घुस रहा था और मुझे दर्द भी ज्यादा हो रहा था। तो मैंने फिर गांड में डिल्डो को घुसाना बंद कर दिया।

फिर मैंने गूगल पर सर्च किया कि लड़की को गांड फर्स्ट टाइम कैसे मरवानी चाहिये। मैंने काफी नॉलेज ली।

फिर मैंने गांड में एकदम नकली लंड घुसाने की जगह पहले एक उंगली घुसाई और कुछ दिन मैंने एक ही उंगली से अपनी गांड को ढीली किया. और फिर कुछ दिन बाद मैंने अपनी गांड में दो उंगली इस्तमाल की। ऐसा मैं रोज करने लगी।

काफी दिन गांड में उंगली करने से मेरी गांड का छेद थोड़ा ढीला हो गया.

फिर मैंने एक दिन आराम आराम से नकली लंड तेल लगा कर अपनी गांड में घुसा लिया. मुझे फर्स्ट टाइम दर्द तो हुआ लेकिन मज़ा भी काफी आता है. अब मैं रोज अपनी चूत और गांड में नकली लंड से चुदाई करती हूँ।
सच में चूत में उंगली करने से अच्छा तो आप नकली लंड खरीद कर उसे इस्तेमाल करो। इससे फिगर भी बनता है और मज़ा भी काफी आता है।

तो दोस्तो, इस स्टोरी में इतना ही!
मैं अपनी अगली कहानी में बताऊँगी कि मैंने कैसे एक शादी समारोह में में एक लड़के साथ सेक्स किया और उसने मुझे और मैंने उसे सेक्स का कितना मज़ा दिया. उसने मेरी फिगर की खूब तारीफ की. आप मेरी आगे की कहानी का इंतजार करना।

आपको मेरी यह कहानी पसंद आई या नहीं … तो लाइक करना और कमेंट करना।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *