बहन की ग़लती, मां का राज़-2

मैंने अपने गाँव की एक औरत की चुदाई की और अक्सर पैसे देकर उसे चोदने लगा. मेरी एक बहन भी है बहुत खूबसूरत. एक दिन उस औरत ने मुझे मेरी बहन के बारे में कुछ बताया. क्या था वो राज?

कहानी का पिछला भाग: बहन की ग़लती, मां का राज़-1

एक दिन सुनीता की चूत चुदाई के बाद उससे मैं बातें कर रहा था.
वो बोली- तुम्हारी बहन सपना भी तो रिंकू से चुदवाती है और मजा लेती है.

मैंने कहा- ये क्या बोल रही हो तुम? और किस रिंकू की बात कर रही हो?
सुनीता- मेरे गांव वाले रिंकू की बात कर रही हूं.
मैं- नहीं, ऐसा नहीं हो सकता है. मेरी बहन सपना तो बहुत सीधी है. वो तो किसी से फालतू बात भी नहीं करती तो फिर चुदाई कैसे करेगी, वो तो कभी घर से बाहर भी नहीं जाती, कॉलेज से भी सीधा घर आती है.

सुनीता- मुझे शिवम ने ही बताया था. अगर आपको विश्वास नहीं है तो आज रात 10 बजे के बाद अपने घर के पीछे वाले हिस्से में देख लेना, जहां पर गाय के लिए चारा रखा गया है.
मैंने कहा- मगर वहां का दरवाजा तो अंदर से बंद रहता है और उसमें लोहे की खिड़की भी लगी हुई है. उसका दूसरा दरवाजा भी घर के अंदर ही खुलता है. मैं वहीं बगल वाले कमरे में सोता हूं. जबकि सपना किनारे वाले कमरे में सोती है. वो तो 9 बजे ही सो जाती है. उसको सुबह जल्दी कॉलेज के लिए जाना होता है.

मेरी बात पर सुनीता ने कहा- अगर तुम्हें मेरी बात का यकीन नहीं हो रहा है तो आज रात तुम खुद ही देख लेना. तुम्हें खुद ही पता लग जायेगा कि वह क्या करती है.

सुनीता की बात सुनकर मुझे टेंशन हो गयी. मैं यही सोच रहा था कि मेरी सगी बहन ऐसा नहीं कर सकती है. मैंने तो उसको कभी बाहर जाते हुए भी नहीं देखा था. वह हमेशा घर में रहती थी. कभी किसी पड़ोसन के घर भी नहीं जाती वो!

उस रात मैं इंतजार करने लगा. 9 बज गये थे. लगभग 10.30 बजे के आस पास बहन के रूम का दरवाजा हल्के से खुलने की आवाज हुई. मैंने चुपके से उठ कर देखा तो वो गाय के चारे वाले कमरे में दबे पांव जा रही थी. मैं भी चुपके से उसके पीछे निकल लिया. मैं उसको रंगे हाथ पकड़ना चाहता था.

मैं उसके जाने के बाद 10 मिनट लेट गया ताकि मेरे पहुंचने से पहले वो उस लड़के को भी बुला ले और मैं सब कुछ अपनी आंखों के सामने देख सकूं. जब मैं वहां पहुंचा तो मैंने देखा कि घर के पीछे वाले हिस्से में एक छोटा सा दो ईंट का होल खुला हुआ था. उस होल से मैंने दूसरी तरफ देखा तो मेरी बहन पूरी तरह से नंगी पड़ी हुई थी.

रिंकू मेरी बहन की चूचियों को दबा रहा था. मगर यहां पर और भी हैरान करने वाली बात ये थी कि उसके साथ में शिवम भी था. शिवम ने मेरी बहन की चूत में मुंह लगाया हुआ था और वो उसकी चूत को चाटने में लगा हुआ था. रिंकू बहन की चूची दबा रहा था और नीचे से शिवम उसकी चूत को चूस रहा था.

मेरी बहन पूरी तरह से बेशर्म होकर सिसकारियां ले रही थी. मुझे तो अपनी आंखों पर विश्वास नहीं हो रहा था. मैंने उसी वक्त अपना मोबाइल निकाला और उन तीनों की लाइव सेक्स वीडियो रिकॉर्ड करने लगा.

वीडियो बनाते हुए अब मेरे मन में बहन के लिए सेक्स के ख्याल आने लगे. जिस तरह से वो नंगी पड़ी हुई थी और दो लड़के उसके बदन को चूस और चाट रहे थे उसको देख कर मेरा लंड भी खड़ा होने लगा था. मैं अपनी बहन को गंदी नजर से देखने लगा.

रिंकू ने मेरी बहन के मुंह में अपना लंड डाल दिया. अब सपना रिंकू के लंड को चूसने लगी. वो किसी रंडी की तरह रिंकू के लंड को चूस रही थी. मुझे अपनी आंखों पर विश्वास नहीं हो रहा था. मैंने कभी कल्पना भी नहीं की थी कि मेरी बहन इतनी चुदासी है. उसने इतना बड़ा राज अपने अंदर छुपाया हुआ है और वो रोज रात को अपनी चुदाई करवाती है और वो भी इस तरह से बल्ब जलाकर!

एक और बात जो मुझे बहुत हैरान कर गयी वो ये कि रिंकू के बारे में सुनीता ने मुझे पहले ही बता दिया था मगर शिवम को देख कर तो मैं बहुत ही हैरान हो गया. अगर रिंकू के साथ ही सपना चुद रही होती तो मैं सोच भी लेता कि रिंकू उसका प्यार है और ऐसा हो सकता है.

मगर शिवम के बारे में तो मैंने सोचा भी नहीं था. अगर शिवम भी साथ में था तो इसका मतलब ये ही हुआ कि रिंकू से मेरी बहन प्यार नहीं करती है और रिंकू भी सपना से प्यार नहीं करता है. अगर उनके बीच में प्यार होता तो वो किसी एक के साथ में होती, इस तरह से दो दो लौंडों से नहीं चुद रही होती.

मेरी बहन की चूचियां बहुत बड़ी थीं. उसने अपनी चूत के बाल भी साफ किये हुए थे. ऐसा लग रहा था जैसे कि मेरे सामने कोई पोर्न मूवी चल रही थी. दो लंड एक चूत को मसल मसल कर मजा ले रहे थे.

अब रिंकू ने अपने लंड पर कॉन्डम लगा दिया. उसने मेरी बहन की टांगों को फैलाया और अपने लंड को मेरी बहन की चूत पर रगड़ने लगा. सपना ने रिंकू की गर्दन को अपनी खींच कर उसके होंठों को पीने लगी. नीचे से रिंकू ने मेरी बहन की चूत में लंड घुसा दिया और अपनी गांड को धकेलते हुए मेरी बहन की चूत चोदने लगा.

Pages: 1 2