ऑफिस की दोस्त की कुंवारी चूत का पहला भोग

दोस्तो, मैं जो कहानी आप लोगों को सुनाने जा रहा हूँ वह आपको जरूर पसंद आएगी. यह कहानी मेरी अपनी कहानी है.
कहानी को शुरू करने से पहले मैं आपको अपने बारे में कुछ बताना चाहूंगा. मेरा नाम आदित्य है और मैं एक निजी संस्था में काम करता हूँ.

मेरा साथ हुई इस घटना में जिस लड़की का जिक्र मैं करने जा रहा हूं वह मेरे साथ ही मेरी ही कम्पनी में काम करती थी. उसका नाम अदिति था. वह मेरे ही डिपार्टमेंट में काम करती थी. हम दोनों में धीरे-धीरे दोस्ती हो गई लेकिन कुछ दिन के बाद उसने वह जॉब छोड़ दी और वह दूसरे शहर में चली गयी. मगर दूसरे शहर में जाने के बाद भी उसका संपर्क मुझसे बना रहा.

फिर एक दिन अचानक उसका फोन आया कि वह मेरे ही शहर में एक दिन के लिए किसी काम से आ रही है.
वैसे तो मेरी और उसकी दोस्ती काफी अच्छी थी लेकिन मैं मन ही मन में उसको चाहने लगा था. वह मुझे काफी पसंद थी लेकिन उससे दिल की बात कहने की कभी मेरी हिम्मत नहीं हुई.

अब जब अदिति फिर से मेरे शहर आने वाली थी तो मैंने सोचा कि उसको इस बार अपने मन की बात बता दूंगा. अब तो हमारे शहर भी अलग हो गये हैं. अगर कुछ गड़बड़ हुई तो कोई परेशानी भी नहीं होगी.

मैं जिस फ्लैट में रहता था उसमें मेरे बड़े भाई-साहब और छोटी बहन भी रहती थी. वह रूम हमने अभी नया ही लिया था. मैंने सोचा कि अदिति को अपने रूम पर ही बुला लेता हूँ. अदिति भी मेरी बात मान गई क्योंकि उसको एक दिन के लिए ही आना था. वह भी सोच रही थी कि कहीं और ठहरने से बेहतर है कि वो मेरे पास ही ठहर लेगी.

मेरे बड़े भाई साहब सुबह काम पर चले जाते थे और बहन उस समय हमारे पुराने घर में गई हुई थी. जिस दिन अदिति को आना था उस दिन मेरे भैया सुबह ही काम से निकल गये थे और मैं घर पर अकेला था. मैंने अदिति को फोन किया और उससे पूछा कि वो कौन सी ट्रेन से आ रही है. उससे बात करने के बाद मैंने सब कुछ प्लान कर लिया. उसकी गाड़ी के समय पर मैं उसे स्टेशन पर लेने के लिए पहुंच गया.

हम घर वापस आ गये और मेरे फ्लैट पर ताला देख कर अदिति पूछ बैठी कि बाकी सब लोग कहां गये हुये हैं. मैंने उसको कह दिया कि शायद बाहर गये होंगे और शाम तक आ जायेंगे. मैं अदिति को सच नहीं बताना चाहता था क्योंकि हो सकता था कि वो फिर मेरे साथ रुकने के लिए मना कर देती इसलिए मैंने उसको पूरा सच नहीं बताया.

अंदर जाकर हमने कुछ देर आराम किया और यहां-वहां की बातें की. फिर मैंने पास ही एक रेस्तरां से खाना ऑर्डर कर दिया. अदिति सफर करके आई थी और शायद उसे भी भूख लगी होगी. कुछ ही देर में खाना आ गया और हम खाना खाने लगे.

फिर अपने प्लान के मुताबिक मैंने टीवी ऑन कर लिया. टीवी पर एक पुरानी सी मूवी चल रही थी. मगर मेरा प्लान कुछ और ही था. मैंने पहले से ही एक ब्लू फिल्म की सीडी तैयार करके रखी हुई थी. जब कुछ देर तक मूवी देखने के बाद मुझे बोरियत होने लगी तो मैंने अदिति से कहा कि इस मूवी को देख कर तो नींद आ रही है.

मैं तुम्हारे लिए फ्रिज से कोल्ड ड्रिंक लेकर आता हूं तब तक तुम सीडी प्लेयर को ऑन कर दो. हम कोई अच्छी सी मूवी देखेंगे.
अदिति बोली- ठीक है.

इतना कहने के बाद मैं उठ कर किचन में चला गया. किचन से हॉल का सब कुछ दिखाई देता था. मैं किचन में एक तरफ होकर छिप गया. मैं देखना चाहता था कि मूवी चलने के बाद अदिति का क्या रिएक्शन होता है. जब उसने सीडी प्लेयर ऑन किया तो एकदम से ब्लू फिल्म चल पड़ी. नंगी फिल्म को स्क्रीन पर देखने के बाद अदिति हड़बड़ा सी गई और उठ कर टीवी बंद करने के लिए चली.

इतने में ही मैं पीछे से आकर बोल पड़ा- अरे, तुम ये क्या देख रही हो?
अदिति बोली- वो … ये … सीडी पहले से ही लगी हुई थी. मैंने तो बस सीडी प्लेयर ऑन किया था.

टीवी की आवाज़ काफी तेज थी और ब्लू फिल्म में एक पॉर्न स्टार लड़की की चुदाई की आह-आह … हॉल में गूंजने लगी. मेरा लंड तो पहले से ही अदिति के साथ सेक्स करने के ख्याल से खड़ा था. जब ब्लू फिल्म की कामुक सिसकारियां सुनीं तो मेरा लंड और ज्यादा टाइट होकर फड़कने लगा और मेरी पैंट में ही अलग से तना हुआ दिखाई देने लगा.

मैंने कोल्ड ड्रिंक का गिलास अदिति की तरफ बढ़ाया तो उसने शर्माते हुए गिलास पकड़ लिया. उसकी नजर झुकी हुई थी और नीचे ही नीचे उसने मेरे तने हुए लंड को भी देख लिया था.

मूवी को चलते हुए पांच मिनट बीत चुके थे. मैं भी जान-बूझकर अदिति को गर्म करने के लिए अभी टीवी बंद करने में ज्यादा से ज्यादा देरी कर रहा था. मैंने थोड़ी सी कोल़्ड ड्रिंक अपनी पैंट पर गिरा ली और गिलास को नीचे टेबल पर रख कर पैंट को अपने हाथ से साफ करने लगा. अदिति वहीं खड़ी होकर मुझे देख रही थी. मेरा हाथ मेरे लंड को सहलाते हुए कोल्ड ड्रिंक को पैंट पर से पौंछ रहा था.
मैं भी जान-बूझकर अपने लंड पर हाथ चला रहा था. इसी सब में मैंने पांच मिनट और निकाल दिये और अब टीवी स्क्रीन पर जबरदस्त चुदाई का सीन चल रहा था.

मैंने जाकर सीडी प्लेयर को बंद कर दिया. मैं जब वापस सोफे की तरफ आ रहा था तो अदिति मेरे लंड की तरफ देख रही थी लेकिन वो नजर नहीं उठा रही थी.
हम साथ में बैठ कर कोल्ड ड्रिंक पीने लगे. मैंने फिर अचानक से अदिति का हाथ पकड़ लिया. वो सहम सी गई और मेरी तरफ हैरत भरी नजर से देखने लगी.

मैंने ज्यादा देर ने करते हुए उससे कहा- मैं तुमसे कुछ कहना चाहता हूं अदिति. मैं तुमको बहुत पहले से ही पसंद करता था और तुमसे प्यार करने लगा था. लेकिन मेरी कभी कहने की हिम्मत नहीं हुई.
वो मेरी बात को चुपचाप सुन रही थी और कुछ भी जवाब नहीं दे रही थी.

मैंने कहा- अगर तुम भी मेरे बारे में कुछ ऐसा सोचती हो तो मैं खुद को बहुत लकी मानूंगा. मैंने तुम्हारे जैसी खूबसूरत लड़की आज से पहले कभी नहीं देखी.
वो मेरी बात सुनकर शरमा गई और धीरे से मुस्कराने लगी.

Pages: 1 2

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *